Category: आनंद के साथ छोटी सी बात

छोटी सी बात भारत के अतीत और वर्तमान की कहानियों का एक यादृच्छिक संग्रह है। छोटी-छोटी बातों के विषयों में अक्सर महाभारत और महाकाव्यों के तत्व होते हैं, जैसा कि भारतीय कहानियों से अपेक्षा की जाती है। स्मॉल टॉक जन सरोकार के मुद्दों पर समकोणीय विचार प्रस्तुत करता है।

सोशल कंस्ट्रक्ट – ये तर्क होता क्या है?

मेरे हिसाब से आप प्रेमी युगलों की हत्या के समर्थक हैं! क्या हुआ, भावना आहत हो गयी इस आरोप से? ठीक है फिर आगे बात करते हैं और बताते हैं…

संस्कृति बचाना किसकी जिम्मेदारी है?

बचपन में कभी जब टीवी पर शिक्षा के लिए, स्कूल जाने के फायदे समझाने के लिए प्रचार आते थे, उस दौर में किसी प्रचार में कहते थे कि लड़के को…

ठाकुर का कूआँ ठाकुर को वापस दो! || Thakur ka Kuaan Thakur ko wapas do

विचित्र बात है कि कूआँ जबतक ठाकुर का बताया जाता था, तबतक पानी भी नहीं बिकता था, जब लाला को शोषक बताते थे तो किसान आत्महत्या नहीं करता था, और…

जाति सर्वेक्षण का बिहार में उल्टा पड़ता दाँव! || Bihar Caste Survey History

बिहार में जाति आधारित जनगणना करवाते समय संभवतः सत्ताधारी राजद और जद(यू) नेताओं ने सोचा होगा कि इसके नतीजे उन्हें जातिवादी राजनीति करने में मदद देंगे, लेकिन अब जब पिछड़ा…

मामला पटना के मोकामा जिले का जहां पर मामले का रुख मोरने के उद्देश्य से पोक्सो और JJ ACT में बदला गया

शूट the मैसेंजर , पॉक्सो एक्ट कहता है सक्षम पदाधिकारी सूचना मिलने के बाद अगर करवाई नही करते तो सक्षम पदाधिकारी पर भी मामला बनता है ! पटना जिले के…

विख्यात लेखक शिव खेड़ा गाँधीवादी क्यों नहीं? || Shiv Kheda on being Gandhian (English)

भारत किसी नेहरु, किसी गाँधी का देश नहीं! उनसे कहीं पहले ये देश राम, कृष्ण और शिव का है. एक इंटरव्यू के दौरान, जाने-माने मोटिवेशनल स्पीकर और “जीत आपकी” (You…

गाँधी जयंती पर गाँधीवाद की बात करें? || Gandhi Jayanti

भारत में गाँधीवाद की दुर्दशा करने का जैसा कारनामा कांग्रेस ने किया है, उससे बेहतर उदाहरण तो किसी विचारधारा की हत्या का मिल पाना मुश्किल है. गाँधी के 1936 में…

नेट/जेआरएफ के “हिन्दू अध्ययन” (Hindu Studies) में न्याय विषय की पढ़ाई कैसे करें?

जो NET / JRF की परीक्षाएं होती हैं, उनमें एक बिलकुल नया विषय “हिदू स्टडीज” यानि कि हिन्दू अध्ययन नजर आने लगा है। ये हाल ही में जुड़ा विषय है…

मनोज झा की बातों का बिहार में क्या मतलब होगा? || Manoj Jha Statement Bihar

राजद ने कह दिया कि वो मनोज “मीर जाफर” झा के समर्थान में है, ऐसे में अब बेचारे आनंद मोहन सिंह क्या करेंगे? जहर का घूँट पी के रह जायेंगे,…