Umesh kushwaha

पटना. जदयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने एक बयान जारी कर लोजपा सांसद चिराग पासवान पर जमकर वार करते हुए कहा कि चिराग पासवान ने अपनी करतूतों से पार्टी में अपना कद और पद दोनों गवा दियाl चिराग पासवान के तानाशाह रवैया के कारण लोजपा में टूट हुयी है लेकिन चिराग पासवान अपने आचरण का आकलन करने के बजाए जदयू पर साजिश करने का झूठा आरोप लगाकर अपनी करतूतों पर पर्दा डालने की कोशिश कर रहे हैंl

श्री कुशवाहा ने जोर देकर कहा की लोजपा में चिराग पासवान की भूमिका तानाशाह की हो गयी थीl यह सब कुछ जदयू के किसी नेता ने नहीं किया बल्कि उनके पार्टी के वरिष्ठ नेतागण स्वयं मीडिया में खुलकर बयान दे रहे हैं। चिराग पासवान जदयू पर साजिश रचने का गलत बयान दे रहे हैंl ये वही चिराग पासवान हैं जिन्होंने पिछले विधानसभा चुनाव में एनडीए में रहते हुए गठबंधन को धोखा दिया और प्रदेश की नीतीश सरकार के खिलाफ चुनावी मैदान में झूठा प्रचार प्रसार करते रहे लेकिन अंत में आखिरकार हुआ क्या? जनता ने चिराग पासवान को बिहार की राजनीती के पिच से बाहर का रास्ता दिखा दिया और नीतीश कुमारजी को उसी जनता का अपार समर्थन मिला और बिहार में उनके नेतृत्व में चौथी बार सुशासन की सरकार बनीl

उमेश कुशवाहा ने लोजपा सांसद चिराग पासवान द्वारा जदयू पर साजिश करने के लगाए गए आरोप को पूरी तरह झूठा करार देते हुए उनके बयान की तीखी आलोचना भी कीl साथ ही कहा कि चिराग पासवान को विरासत में राजनीति मिली थी और अपने पिता स्वर्गीय राम विलास पासवान के बदौलत सीधे पार्टी के शीर्ष पद पर बैठ गए थे लेकिन चिराग पासवान के पास समझ की कमी और अपरिपक्वता के कारण ही लोजपा विखंडित हुई हैl

श्री कुशवाहा ने कहा कि चिराग पासवान ने अपने जीवन में कभी संघर्ष किया नहीं, इस कारण चिराग पासवान राजनीतिक रूप से अभी पूरी तरह अपरिपक्व हैं और इसीका नतीजा है कि लोजपा में उनकी छवि महज एक पोस्टर ब्याय की तरह रही। चिराग पासवान की पार्टी पर कोई पकड़ नहीं थी और जनता ने उन्हें पहले ही नकार दिया थाl इन्हीं कारणों और अपनी करतूतों की वजह से चिराग पासवान चारों खाने चित हो गए हैंl अब अपने करतूतों की भड़ास जदयू नेताओं पर निकालने का प्रयास कर रहे हैंl

उमेश सिंह ने अफसोस जताते हुए कहा कि चिराग पासवान के पिता स्वर्गीय रामविलास पासवान ने अपने कठिन संघर्षों से लोजपा जैसी पार्टी खड़ी की थी लेकिन चिराग पासवान को उसे डुबाने में एक क्षण भी नही लगा। लोजपा में हुई टूट से चिराग पासवान ने न सिर्फ अपने पिता के संघर्षों से खड़ी हुई पार्टी में तबाही लाई बल्कि लोजपा में हुई इस टूट से चिराग पासवान की नासमझी भरा आचरण भी उजागर हो गया हैl

जदयू के प्रदेश अध्यक्ष ने कहां की चिराग पासवान अपनी गलत नीतियों के कारण ही चौराहे पर खड़े होने को मजबूर हुए हैं और अब उनके पास कोई चारा नहीं है। अब कुछ भी कर लें लेकिन उनके कैरियर पर ब्रेक लग चुका है, जिससे उबरना चिराग पासवान के लिए आसान नहीं होगाl चिराग पासवान पर हमलावर उमेश सिंह यहीं नहीं रुके उन्होंने यहां तक कहा कि राजनीति में आने से पहले चिराग पासवान बॉलीवुड में भी अपनी किस्मत अजमाने गए थे लेकिन वहां से भी सुपर- डुपर फ्लॉप होकर लौट चुके हैंl उसके बाद उनके पिता स्वर्गीय रामविलास पासवानजी उन्हें राजनीति में लाये और चिराग पासवान को काफी आगे बढ़ाने का भरपूर प्रयास किया लेकिन चिराग पासवान ने अपनी गलत सोच से अपनी बनी बनाई राजनीतिक कैरियर को भी बर्बाद कर लियाl साथ ही चिराग पासवान ने अपने ऐसे कारनामों से अपने पिता स्वर्गीय राम विलास पासवान की छवि को भी गहरा धक्का पहुंचायाl

By anandkumar

आनंद ने कंप्यूटर साइंस में डिग्री हासिल की है और मास्टर स्तर पर मार्केटिंग और मीडिया मैनेजमेंट की पढ़ाई की है। उन्होंने बाजार और सामाजिक अनुसंधान में एक दशक से अधिक समय तक काम किया। दोनों काम के दायित्वों के कारण और व्यक्तिगत हित के रूप में उन्होंने पूरे भारत में यात्रा की। वर्तमान में, वह भारत के 500+ जिलों में अपना टैली रखता है। पिछले कुछ वर्षों से, वह पटना, बिहार में स्थित है, और इन दिनों संस्कृत में स्नातक की पढ़ाई पूरी कर रहें है। एक सामग्री लेखक के रूप में, उनके पास OpIndia, IChowk, और कई अन्य वेबसाइटों और ब्लॉगों पर कई लेख हैं। भगवद् गीता पर उनकी पहली पुस्तक "गीतायन" अमेज़न पर लॉन्च होने के पांच दिनों के भीतर स्टॉक से बाहर हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

hi Hindi
X