sanjay-jaiswal

सत्ता से बाहर रहने वाली कांग्रेस, सत्ता में रहने वाली कांग्रेस से अधिक खतरनाक

पटना, मई 18, 2021: कांग्रेस के टूलकिट के आज हुए खुलासे पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने आज फेसबुक के जरिये कांग्रेस पर करारा हमला किया.

पोस्ट के साथ टूलकिट की प्रतियां अटैच करते हुए उन्होंने लिखा कि :-

“इन पंक्तियों को पढ़ें

– ईद खुशियों का त्यौहार, कुंभ कोरोना का सुपर स्प्रेडर बताएं
– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अप्र्रूवल रेटिंग उच्चस्तर की यही वो मौका है, जब उनके व्यक्तित्व व छवि को धूमिल किया जाए
– भारत को बदनाम करने के लिए कोरोना के ‘इंडियन स्ट्रेन’ या ‘मोदी स्ट्रेन’ शब्दावली का बार-बार प्रयोग करें
– अमित शाह के लिए ‘मिसिंग’, एस जयशंकर के लिए ‘क्वारनटाइण्ड’, राजनाथ सिंह के लिए ‘साइडलाइंड’ और निर्मला सीतारमण के लिए ‘संवेदनहीन’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल करें
– आसपास के अस्पतालों में कुछ बेड्स व अन्य सुविधाएँ पहले से ही ब्लॉक कर के रखें, जिन्हें अपने नेताओं के निवेदन पर ही मुक्त किया जाए
– IYC के हैंडल को टैग न करने वाले पीड़ितों को कोई प्रतिक्रिया न दी जाए।
– पत्रकारों, प्रभावशाली लोगों और मीडिया के लोगों की ‘मदद’ को प्राथमिकता दें
– ऐसे ट्विटर हैंडल्स बनाए, जो देखने में मोदी समर्थक लगे, फिर उन हैंडलों से सरकार की आलोचना करनी है
– विदेशी मीडिया में पीएम मोदी के खिलाफ लेखों को जम कर शेयर करने को कहा गया है।
– अंतरराष्ट्रीय मीडिया और ‘दोस्त पत्रकारों’ के साथ साँठगाँठ कर नैरेटिव को आगे बढ़ाएं
– ‘बुद्धिजीवियों और विचारकों’ के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए अपशब्दों और आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग करवाएं

धूर्तता और ओछेपन में कांग्रेस का पूरे विश्व में कोई मुकाबला नहीं है. ऐसे ही नहीं कहते कि सत्ता से बाहर रहने वाली कांग्रेस, सत्ता में रहने वाली कांग्रेस से अधिक खतरनाक होती है.

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल का फेसबुक पोस्ट

ऊपर लिखी लाइनें कांग्रेस की ‘टूलकिट’ की हैं. टूलकिट यानी एक सुनियोजित योजना जिसकी हर लाइन में आपदा में राजनीतिक अवसर तलाशने की कांग्रेसी मक्कारी टपकती हुई दिखाई पड़ती है. इस महामारी से मर रहे लोगों की लाशों में भी फायदा देखने वाली यह पार्टी सत्ता में आने के लिए किस हद तक गिर सकती है, उसकी झलक इस टूलकिट के एक-एक हर्फ में दिखाई देती है.

इस पार्टी और इसके खेवनहारों के प्रति मन घृणा से बजबजा उठता है. आखिर क्या हो गया है इस पार्टी को??

राजनीति करनी है तो करिए लेकिन देश के मान और जनता की जान को तो दांव पर मत लगाइए. नाम लेंगे गाँधी का और काम गिद्धों वाला!!

वास्तव में कांग्रेस पार्टी अब देश के लिए खतरनाक हो चुकी है. टूलकिट में कुंभ और ईद पर दिए गये इनके निर्देशों को पढ़िए तो साफ़ नजर आ जाता है कि एक अंग्रेज द्वारा स्थापित इस पार्टी ने अभी भी ‘बांटो और राज करो’ की नीति को नहीं छोड़ा है.

टूलकिट में लोगों की मदद के नाम पर आपदा की इस घड़ी में ‘मित्र अस्पतालों’ में बेड ब्लॉक रखना, जो इन्हें टैग न करें उसकी कोई मदद न करना, मीडिया व प्रभावशाली लोगों को प्राथमिकता देने जैसे निर्देश इस पार्टी के मानसिक दिवालियापन का जीवंत सबूत है.

साजिशों से भरे इस टूलकिट में बताया गया है कि जिस तरह विदेशी मीडिया और उनके पत्रकार लगातार जलती चिताओं और लाशों की तस्वीरें शेयर कर रहे हैं, कुछ वैसा ही जोर-शोर से करना है. साथ ही ऐसे ‘नाटकीय’ तस्वीरें स्थानीय पत्रकारों को उपलब्ध कराने को निर्देशित किया गया है. इनकी अमानवीयता का इससे बड़ा उदहारण और क्या सकता है!!

इसमें ‘पीएम केयर्स फंड’ पर सवाल खड़े करने के लिए सिविल सर्वेंट्स से आवाज़ उठवाने की बात की गई है. यह भी स्वीकार किया गया है कि छत्तीसगढ़, पंजाब और राजस्थान जैसे राज्यों में ‘पीएम केयर्स फंड’ से भेजे गए वेंटिलेटर्स बिना प्रयोग किए पड़े हुए हैं, जिसे काटने के लिए झूठ बोलने की सलाह दी गई है.

इस टूलकिट को पढ़ें तो एकबारगी यह विश्वास ही नहीं होता कि संकट की इस घड़ी में देश का कोई राजनीतिक दल अपनी राजनीति चमकाने के लिए इतने निचले स्तर तक गिर सकता है. इन्हें लगता है कि पिछले 7 वर्षों में जो काम इनका झूठ और दुष्प्रचार न कर पाया वह काम कोविड की आपदा कर देगी.

अब समझ में आता है कि किसान, सीएए को लेकर चले फर्जी आन्दोलनों में नये नये ट्विटर हैंडल्स की बाढ़ कैसे आ रही थी. कैसे फर्जी हैंडल्स के माध्यम से हिन्दू बनाम मुस्लिम, हिन्दू बनाम सिख, ऊँची जात बनाम नीची जात जैसे वैमन्स्यकारी नैरेटिव सेट किये जा रहे थे. क्यों पत्रकारों का एक गिरोह इनकी हर झूठी बात को तोड़े-मरोड़े तथ्यों के आधार पर सच साबित करने पर लगा रहता है, यह सारी बातें इस टूलकिट को देखने मात्र से स्पष्ट हो जाती हैं.

वास्तव में अब तो ऐसा प्रतीत होता है कि जिस प्रकार से कांग्रेस शासित राज्यों से कोरोना की इस दूसरी लहर का पूरे देश में प्रसार हुआ है, वह भी संयोग नहीं बल्कि इनका प्रयोग हो!!”

#CongressToolkitExposed

By Shubhendu Prakash

शुभेन्दु प्रकाश 2012 से सुचना और प्रोद्योगिकी के क्षेत्र मे कार्यरत है साथ ही पत्रकारिता भी 2009 से कर रहें हैं | कई प्रिंट और इलेक्ट्रनिक मीडिया के लिए काम किया साथ ही ये आईटी services भी मुहैया करवाते हैं | 2020 से शुभेन्दु ने कोरोना को देखते हुए फुल टाइम मे जर्नलिज्म करने का निर्णय लिया अभी ये माटी की पुकार हिंदी माशिक पत्रिका में समाचार सम्पादक के पद पर कार्यरत है साथ ही aware news 24 का भी संचालन कर रहे हैं , शुभेन्दु बहुत सारे न्यूज़ पोर्टल तथा youtube चैनल को भी अपना योगदान देते हैं | अभी भी शुभेन्दु Golden Enterprises नामक फर्म का भी संचालन कर रहें हैं और बेहतर आईटी सेवा के लिए भी कार्य कर रहें हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published.

hi Hindi
X
Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

Powered By
Best Wordpress Adblock Detecting Plugin | CHP Adblock