GKC membership drive 10 Feb 2

पटना, 09 फरवरी कायस्थों के सामाजिक- आर्थिक और राजनीतिक उत्थान के लिए कार्यरत अंतरराष्ट्रीय संस्था ग्लोबल कायस्थ कॉन्फ्रेंस (जीकेसी) की पटना इकाई 10 फरवरी से सदस्यता अभियान की शुरूआत करने जा रही है।
जीकेसी के ग्लोबल अध्यक्ष राजीव रंजन प्रसाद की अध्यक्षता में जीकेसी बिहार कार्यकारिणी की बैठक संपन्न हुयी। बैठक में राजधानी पटना में आगामी 10 फरवरी से सदस्यता अभियान शुरू करने का निर्णय लिया गया। बैठक को संबोधित करने हुये राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि राजधानी पटना से सदस्यता अभियान की शुरुआत की जा रही है। उन्होंने बताया कि सदस्यता अभियान बनाने में संगठन की ओर से युवाओं और महिलाओं को जोड़ने पर विशेष जोर दिया जाएगा। जीकेसी के प्रदेश उपाध्यक्ष नीलेश रंजन को सदस्यता अभियान का प्रभारी बनाया गया है।
जीकेसी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह बिहार-झारखंड के प्रभारी दीपक कुमार अभिषेक ने कहा, सबसे पहले हमारा विशेष जोर सदस्यता अभियान चलाकर कायस्थ जाति को जोड़ने और अधिक से अधिक संख्या में लोगों को एक मंच पर लाने का है ।उन्होंने बताया कि संगठन का पूरा प्रयास अपने समाज के भीतर आर्थिक रूप से कमजोर किसी भी मेधावी प्रतिभा को आर्थिक के साथ-साथ हर तरह की सहायता-सुविधा प्रदान कर उसे शिक्षा तथा रोजगार के क्षेत्र में आगे बढ़ाने का है।हम सभी को मिलकर जीकेसी की सभी इकाई को विस्तार करने की जरूरत है। संगठन को आगे बढ़ाने के लिए सोच और विचारधारा को ज़मीनी स्तर पर क्रियान्वित करने की जरूरत है।


जीकेसी बिहार की प्रदेश अध्यक्ष डा. नम्रता आनंद ने कहा, जीकेसी के गठन के साथ ही धरातल पर काम करने वाले प्रतिभाशाली लोगों की टीम बनायी गयी है, जो सबका साथ और सबका विकास के साथ काम करने में कृत संकल्पित हैं।
उन्होंने कहा, जीकेसी की स्थापना का महत्वपूर्ण उद्देश्य सम्पूर्ण कायस्थ समाज को संगठित, उन्नत एवं सशक्त करना है। कायस्थ समाज के लोगों को एक दूसरे से समन्वय स्थापित करने की जरूरत है, जिससे उनका सर्वांगीण विकास हो सके।
जीकेसी की ओर से समय-समय पर विविध आयोजनों के जरिए समाज के भीतर छुपी हुई प्रतिभा को उचित मंच और अवसर प्रदान किया जाएगा ।इसके लिए संगठन की ओर से व्यापक रूपरेखा भी बनाई गई है।

इस अवसर पर जीकेसी मीडिया- कला संस्कृति प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रेम कुमार, दीपक कुमार अभिषेक, प्रदेश अध्यक्ष डा. नम्रता आनंद, जीकेसी बिहार के महासचिव संजय कुमार सिन्हा, कला संस्कृति प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अनिल कुमार दास, राष्ट्रीय सचिव अनुराग समरूप,प्रदेश उपाध्यक्ष नीलेश रंजन, संगठन मंत्री बलराम जी, रवि सिन्हा, पटना जिला महासचिव धनंजय प्रसाद, मीडिया सेल के प्रदेश महासचिव मुकेश महान, युवा प्रकोष्ठ के प्रभारी राजेश सिन्हा संजू, युवा पटना जिला अध्यक्ष पीयुष श्रीवास्तव, प्रदेश उपाध्यक्ष जितेंद्र कुमार सिन्हा, प्रदेश सचिव रूपेश रंजन सिन्हा, महिला प्रकोष्ठ की उपाध्यक्ष नंदा कुमारी, आलोक कुामर, शैलेश कुमार समेत कई अन्य लोगों ने अपने विचार साझा किये।बैठक के अंत में धन्यवाद ज्ञापन पटना जिला महासचिव धनंजय प्रसाद ने दिया।

By anandkumar

आनंद ने कंप्यूटर साइंस में डिग्री हासिल की है और मास्टर स्तर पर मार्केटिंग और मीडिया मैनेजमेंट की पढ़ाई की है। उन्होंने बाजार और सामाजिक अनुसंधान में एक दशक से अधिक समय तक काम किया। दोनों काम के दायित्वों के कारण और व्यक्तिगत हित के रूप में उन्होंने पूरे भारत में यात्रा की। वर्तमान में, वह भारत के 500+ जिलों में अपना टैली रखता है। पिछले कुछ वर्षों से, वह पटना, बिहार में स्थित है, और इन दिनों संस्कृत में स्नातक की पढ़ाई पूरी कर रहें है। एक सामग्री लेखक के रूप में, उनके पास OpIndia, IChowk, और कई अन्य वेबसाइटों और ब्लॉगों पर कई लेख हैं। भगवद् गीता पर उनकी पहली पुस्तक "गीतायन" अमेज़न पर लॉन्च होने के पांच दिनों के भीतर स्टॉक से बाहर हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

hi Hindi
X