Upendra Kushwaha Shastri Jayanti

प्रदेश अध्यक्ष जदयू श्री उमेश सिंह कुशवाहा ने BIA हॉल पटना में आयोजित ‘‘लाल बहादुर शास्त्री जयंती-सह-सम्मान समारोह” की अध्यक्षता करते हुए कहा कि लाल बहादुर शास्त्री जी ने देश को ‘‘जय जवान जय किसान’’ का नारा देकर लोगों को एक रहने और देशभक्त बनने का सुझाव दिया था। उनके कार्यशैली देश और समाज के प्रति समर्पित था। उन्होंने अपनी सादगी जीवन में रहकर देश की सेवा और समाज की सेवा कैसे किया जा सकता है, उसका मार्गप्रसस्त किया था। हमलोगों को उनके द्वारा दर्शाये मार्गदर्शन पर अमल करने की आवश्यकता है। हमारी राज्य की सरकार इस दिशा में वर्तमान स्थिति को ध्यान में रख कर कई कार्य किये हैं और कई कार्य हो रहे हैं।

उक्त अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष (कलमजीवी प्रकोष्ठ) डॉ. प्रभात चंद्रा ने कार्यक्रम में प्रदेश अध्यक्ष जदयू श्री उमेश सिंह कुशवाहा को अंगवस्त्र पहनाकर और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि लाल बहादुर शास्त्री जी ने अपने मंत्रित्व काल में जब वे उत्तरप्रदेश के पुलिस विभाग में मंत्री थे तो उन्होंने भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस द्वारा लाठी चलाये जाने के जगह पानी का बौछार करने का प्रयोग किया, जो सफल प्रयोग कहा जाता है, क्योंकि आज भी देश के सभी राज्यों में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पानी का बौछौर किया जाता है। इसी तरह उत्तरप्रदेश में ही परिवहन विभाग के मंत्री की हैसियत से उन्होंने पहलीबार महिला संवाहकों (कण्डक्टर्स) की नियुक्ति करने का प्रयोग किया, यह भी सफल प्रयोग रहा। आज की प्रपेक्ष्य में कहा जाय तो देश के सभी राज्यों में लगभग सभी विभागों द्वारा महिलाओं की सेवा ली जा रही है। हमारे राज्य भी इससे अछूता नहीं है बल्कि बढ़चढ़ कर महिलाओं को त्बजो देकर हर क्षेत्र में उसे आगे बढ़ाया है। इसका एक छोटा सा उदाहरण है कि महिला पुलिस सेवा में सड़कों पर आप आमदिन पेट्रोलिंग करते हुए या चाक चौराहे पर यातायात को नियंत्रित करते हुए देखे जाते है। वे कड़ी धूप, बरसात, कड़क की ढंढ को आसानी से सहते हुए समाज सेवा निःसंकोच भाव से कर रही है।

उक्त अवसर पर अतिथि, पूर्व मंत्री एवं पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रंजीत सिन्हा और कार्यालय प्रभारी (समाज सुधार) राजीव रंजन ने समाजसेवी गौरव राय, वसंत थिरानी, अमृता सिंह, पल्लवी सिन्हा, रंजीत श्रीवास्तव, निशी मिश्रा, चेतना, मीडिया प्रतिनिधियों में मदन कुमार, आलोक कुमार, प्रेम कुमार, धीरेन्द्र गुप्ता, उपन्यासकार माधुरी सिन्हा, चिकित्सक डॉ शौर्य, डॉ रंजन, डॉ चेतना , कलमजीवी प्रकोष्ठ जदयू के प्रदेश उपाध्यक्ष रविन्द्र कुमार रतन, प्रदेश महासचिव चेतन थिरानी, अनुराग समरूप, रश्मि लता, प्रदेश सचिव अंकिता पल्लव, रोहितेश कुमार सिन्हा, व्यक्तियों और पत्रकारों को शॉल और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

उक्त अवसर पर लाल बहादुर शास्त्री जी को स्मरण करते हुए अपने-अपने विचारों को कलमजीवी प्रकोष्ठ के उपाध्यक्ष श्री अशोक कुमार, उपाध्यक्ष श्री रवीन्द्र कुमार रतन और महासचिव श्री जितेन्द्र कुमार सिन्हा ने रखा।

कार्यक्रम में धन्यवाद ज्ञापन कलमजीवी प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव श्रीमती रश्मि लता ने की। मंच संचालन कलमजीवी प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव अंकिता पल्लव ने की।

कार्यक्रम का लालबहादुर शास्त्री जी के चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित करने के बाद दीप प्रज्जवलित कर शुभारम्भ किया गया।

उक्त अवसर पर कलमजीवी प्रकोष्ठ के उपाध्यक्ष ब्रज भूषण लाल कर्ण, उपाध्यक्ष प्रवीण सक्सेना, प्रदेश महासचिव श्री विजय कुमार श्रीवास्तव, प्रदेश महासचिव जितेन्द्र कुमार सिन्हा, प्रदेश महासचिव डॉ0 आर0के0 गुप्ता, प्रदेश महासचिव श्री अनुराग समरूप, प्रदेश महासचिव श्री चेतन थिरानी, प्रदेश सचिव श्री रोहितेश कुमार, प्रदेश सचिव अधिवक्ता उज्जवल राज सहित कलमजीवी प्रकोष्ठ के सभी पदाधिकारीगण एवं अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

By anandkumar

आनंद ने कंप्यूटर साइंस में डिग्री हासिल की है और मास्टर स्तर पर मार्केटिंग और मीडिया मैनेजमेंट की पढ़ाई की है। उन्होंने बाजार और सामाजिक अनुसंधान में एक दशक से अधिक समय तक काम किया। दोनों काम के दायित्वों के कारण और व्यक्तिगत हित के रूप में उन्होंने पूरे भारत में यात्रा की। वर्तमान में, वह भारत के 500+ जिलों में अपना टैली रखता है। पिछले कुछ वर्षों से, वह पटना, बिहार में स्थित है, और इन दिनों संस्कृत में स्नातक की पढ़ाई पूरी कर रहें है। एक सामग्री लेखक के रूप में, उनके पास OpIndia, IChowk, और कई अन्य वेबसाइटों और ब्लॉगों पर कई लेख हैं। भगवद् गीता पर उनकी पहली पुस्तक "गीतायन" अमेज़न पर लॉन्च होने के पांच दिनों के भीतर स्टॉक से बाहर हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

hi Hindi
X