nitish on bpsc paper leak
mini metro radio

– कोरोना का दौर खत्म होने के बाद ही सीएए पर कोई बात होगी
-विशेष राज्य का दर्जा हमलोगों की पुरानी मांग है
-सबकी राय से पूरे तौर पर होगी जातीय जनगणना

पटना:मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बीपीएससी प्रश्न पत्र लीक होने पर कड़ी नाराजगी जताए हुए कहा कि इस मामले में जिसने भी गड़बड़ी की है उसके खिलाफ सख्त एक्शन होगा। सोमवार को जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम के बाद पत्रकारों के प्रश्न का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि जानकारी मिलते ही कल शाम में ही हमने तुरंत एक्शन लिया और कार्रवाई हो रही है। प्रश्न पत्र कहां से और किस तरह लीक हुआ, इन सब की जांच हो रही है। हमने कहा है कि जितनी जल्दी हो सके जांच कीजिएl

Those who leaked BPSC question paper will be caught soon Nitish said  strategy is being made for the future - बीपीएससी प्रश्नपत्र लीक करने वाले  जल्द गिरफ्त में होंगे, नीतीश बोले-भविष्य केमुख्यमंत्री ने एक अन्य प्रश्न के जवाब में कहा कि अभी कोरोना है, कोरोना का दौर खत्म होगा, उसके बाद सीएए पर कोई बात होगी। तीन देशों के जो अल्पसंख्यक लोग यहां रह रहे हैं उनके लिए कानून बनाने की बात तो केंद्र सरकार को ही देखना है। राज्य सरकार की ओर से बहुत पहले ही केंद्र सरकार को लिखकर भेज दिया गया है। मुख्यमंत्री ने साइबर क्राइम के सवाल पर कहा कि गड़बड़ी करनेवालों के खिलाफ यहां पूरी सक्रियता है, सब चीज के लिए पहले से गाइडलाइन है। कोई गड़बड़ करना चाहेगा तो उसे छोड़ा नहीं जाएगा। केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से मुलाकात के सवाल पर कहा कि हमारा उनसे पुराना संबंध है, वे यहां अपनी पार्टी के प्रभारी भी रहे हैं। यहॉ आने पर हमारी उनसे मुलाकात हुई और शिक्षा के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों के संबंध में बातचीत हुई। व्यक्तिगत रूप से हमलोगों की आपस में बातचीत होती ही रहती है, इसका कोई अर्थ निकालने की जरूरत नहीं है।

सीएए पर बोले नीतीश कुमार, कोरोना का दौर अभी खत्म नहीं हुआ है, यह केंद्र  सरकार को ही देखना होगा - हिन्दुस्थान समाचारमुख्यमंत्री ने एक अन्य प्रश्न के जवाब में कहा कि हमलोग किसी जाति को अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति में मान्यता देने के लिए प्रस्ताव भेजते हैं जिस पर केंद्र सरकार के स्तर से निर्णय लिया जाता है। जातीय जनगणना को लेकर भी यहां के सभी दलों के लोग प्रधानमंत्री जी से जाकर मिले थे। केंद्र सरकार इसे नहीं करेगी लेकिन कहा है कि राज्य सरकार अपने यहां कर सकती है। कुछ राज्य इसे अपने-अपने ढंग से कर रहे हैंl यहॉ सभी दल के लोग आपस में बातचीत करेंगे और जब बिहार में होगा तो पूरे तौर पर होगा। इन सब चीजों को लेकर राज्य सरकार पहले से कॉन्सेस है, सबलोगों की राय लेंगे तभी आगे काम करेंगे। बढ़ती महंगाई में जनता को और राहत देने के सवाल पर कहा कि जितना राहत देना संभव है वह सब किया जायेगा। पिछली बार जब केंद्र सरकार ने वैट की दरों में कमी की तो उस समय भी बिहार में वैट की दरों में कमी की गई। पेट्रोल-डीजल की कीमतें काफी बढ़ गई हैं लेकिन कई हफ्तों से कीमतें स्थिर है, इनकी कीमतों में इजाफा होने के कई कारण हैं। जब बाहर से महंगा पेट्रोल-डीजल आयेगा तो उसका असर यहां भी पड़ेगा ही, सब चीजों पर राज्य सरकार की नजर है। महंगाई की समस्या पूरे देश की समस्या है। आने वाले समय में आपदा की स्थिति को लेकर भी राज्य सरकार अभी से सतर्क है।

Nitish Kumar Said - We Are Making Development In Every Field Of Bihar But  Hurts When People Complains Ann | CM नीतीश कुमार बोले- हम हर क्षेत्र में विकास  कर रहे हैं, इस बात को सुनकर दुख होता है जब लोग कहते हैं कि...मुख्यमंत्री ने कहा कि हमलोग बिहार में लगातार विकास का कार्य कर रहे हैं। एक-एक चीजों पर सरकार की नजर है, मेंटेनेंस पर राज्य सरकार का विशेष जोर है। हमने हर घर नल का जल पहुंचा दिया है तो उसका मेंटेनेंस भी बहुत जरुरी है। मेंटेनेंस होने से उसका फायदा लोगों को मिलता रहेगा। हर खेत तक सिंचाई के लिए पानी पहुंचाने को लेकर भी आकलन किया जा चुका है। केंद्र एवं राज्य सरकार की ओर से कई परियोजनाओं, सड़कों एवं पुलों का निर्माण कार्य चल रहा है। हमलोग निर्माण स्थल पर जाकर कार्यों का निरीक्षण करते रहते हैं।
मुख्यमंत्री ने बिहार में फिल्म पॉलिसी के सवाल पर कहा कि फिल्म निर्माण के लिए राजगीर में जगह निर्धारित की गयी है और फिल्म बनाने वालों को सलाह दी है कि राजगीर में जाकर देख लीजिए, यहीं पर फिल्म बनाइये। वैसे बिहार में कई जगहों पर फिल्मों की शूटिंग हो सकती है। हमलोग शुरू से चाहते रहे हैं कि बिहार में फिल्मों की शूटिंग हो, हमलोग सब सुविधा देने को तैयार हैं।

नीति आयोग के सतत विकास सूचकांक में केरल फिर शीर्ष पर, बिहार का सबसे ख़राब  प्रदर्शननीति आयोग की रिपोर्ट के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि रिपोर्ट सामने आयी थी तो जवाब भेज दिया गया था। बिहार का काफी तेजी से विकास हो रहा है, इतने काम के बावजूद अगर आप पूरे देश को ओवरआॅल देखियेगा तो बिहार पीछे है ही, इसमें कोई शक नहीं है। यहाँ क्षेत्रफल कम है, आबादी काफी ज्यादा है। प्रजनन दर घटाने के लिए महिलाओं को पढ़ाने में लगे हैं। बाहर से आने वाला व्यक्ति बिहार आकर देखता है कि बिहार में कितना एलिवेटेड रोड, ब्रीज एवं सड़कें बनी हैं और सभी इसकी प्रशंसा भी करते हैं। बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिलना हमलोगों की पुरानी मांग है, इससे बिहार का और तेजी से विकास होगा। बिहार में पहले शिक्षा और स्वास्थ्य की स्थिति काफी खराब थी, आज इनमें काफी परिवर्तन हुआ हैl कई इंस्टीट्यूशन खोला गया है। कोरोना को लेकर भी हमलोग काफी कंशस हैं, टीकाकरण काफी तेजी से चल रहा है। बिहार देश का पहला राज्य है जिसने सबसे पहले फैसला लिया कि सभी लोगों का मुफ्त में टीकाकरण कराया जायेगा। कई लोग बयानबाजी करते रहते हैं, हमलोग काम करते रहते हैं। हमलोग सेवक हैं, लोगों की सेवा करते रहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

hi Hindi
X