Chitransh Mukhiya

पुनीता देवी ने सोनपुर पघारी, पंचायत बिरौल प्रखंड में विजयी होकर समस्त चित्रांश परिवार को गौरवान्वित किया | संयोगवश विगत 25 नवम्बर को हुए चुनाव में पुनीता देवी का चुनाव चिन्ह कलम दवात ही था, इस जीत पर उन्होंने इसे भगवान चित्रगुप्त जी की आशीर्वाद और समस्त क्षेत्र की जनता को इसके लिए धन्यवाद दिया | पुरे दरभंगा जिले में इस जीत को लेकर चर्चा है,इस अवसर मुखिया पुनीता देवी ने समग्र क्षेत्र के विकास के लिए काम करने की घोषणा की और कहा कि आने वाले सालों में जनता के लिए बेहतर काम करेंगी | ग्लोबल कायस्थ क्रांफ्रेंस के ग्लोबल अध्यक्ष श्री राजीव रंजन प्रसाद जी ने इस जीत पर बेहद खुशी जताई है,और कहा कि समाज अब जाग चुका है,और अपना हक लेकर रहेगा |
ग्लोबल कायस्थ क्रांफ्रेंस आईटी सेल के प्रदेश अध्यक्ष श्री आशुतोष ब्रजेश के नेतृत्व में आज उनको उनके सोनपुर स्थित निजी आवास पर अंगवस्त्र और सम्मान पत्र से सम्मानित किया गया |
इस मौके पर आशुतोष ब्रजेश ने स्थानीय चित्रांशों को संबोधित करते हुए कहा कि समय आ गया है अब सभी चित्रांशों को राजनीतिक सहभागिता बढ़ानी होगी,इस अवसर पर जीकेसी प्रदेश अध्यक्ष नम्रता आनंद, मिडिया प्रकोष्ठ के अध्यक्ष प्रेम कुमार जी ने खुशी जाहिर की है,इस अवसर पर जीकेसी के ग्लोबल अध्यक्ष श्री राजीव रंजन प्रसाद जी के नेतृत्व में आस्था जताते हुए उनके आवाह्नन पर विश्व कायस्थ महासम्मेलन में शामिल होने का सभी चित्राशों ने निर्णय लिया | इस अवसर पर धीरेन्द्र चौधरी ने कहा कि समाज का गौरवशाली इतिहास रहा है, सबके सहयोग से ही हम आगे बढ़ेंगे |मौके पर निर्वाचित मुखिया श्रीमती पुनीता देवी,श्री हरे कृष्ण चौधरी, श्री धीरेन्द्र चौधरी, प्रखंड अध्यक्ष, जदयू,बिरौल,श्री ललितेश कंठ प्रखंड उपाध्यक्ष,जदयू,गौराबौराम,मनोज लाल दास,श्री सुनील कुमार लाल दास,श्री निलाम्बर लाल दास,अभिलाष चौधरी,चंदन कुमार चौधरी,पवन कुमार लाल,रिशु कुमार लाल,आयूष चौधरी,श्री चिन्मय चौधरी,रतन प्रसाद, जयनारायण सिंह,श्री कुशेश्वर कुंवर,सुरेश,शिबू,शिव कुमार बमबम मौजूद थे |

By anandkumar

आनंद ने कंप्यूटर साइंस में डिग्री हासिल की है और मास्टर स्तर पर मार्केटिंग और मीडिया मैनेजमेंट की पढ़ाई की है। उन्होंने बाजार और सामाजिक अनुसंधान में एक दशक से अधिक समय तक काम किया। दोनों काम के दायित्वों के कारण और व्यक्तिगत हित के रूप में उन्होंने पूरे भारत में यात्रा की। वर्तमान में, वह भारत के 500+ जिलों में अपना टैली रखता है। पिछले कुछ वर्षों से, वह पटना, बिहार में स्थित है, और इन दिनों संस्कृत में स्नातक की पढ़ाई पूरी कर रहें है। एक सामग्री लेखक के रूप में, उनके पास OpIndia, IChowk, और कई अन्य वेबसाइटों और ब्लॉगों पर कई लेख हैं। भगवद् गीता पर उनकी पहली पुस्तक "गीतायन" अमेज़न पर लॉन्च होने के पांच दिनों के भीतर स्टॉक से बाहर हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

hi Hindi
X