Begusarai Jila Samvedikaran

19.12.2021

कारगिल विजय भवन बेगुसराय में बाल संरक्षण के मुद्दे पर जिला स्तरीय संवेदीकरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिला बाल संरक्षण इकाई ,सेव द चिल्ड्रेन और यूनिसेफ के संयुक्त तत्वावधान में संचालित कार्यक्रम का उद्घाटन पुलिस उपाधीक्षक मुख्यालय श्रीमती निशित प्रिय, प्रधान मजिस्ट्रेट किशोर,  न्याय परिषद श्री रवि रंजन, अध्यक्ष सीडब्लूसी श्रीमत संगीत कुमारी, डीपीओआई की डीएस रचना सिन्हा एव सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा सह जिला जनसंपर्क पदाधिकारी भुवन कुमार के साथ मंच पर उपस्थित सभी अधिकारियों ने संयुक्त रूप से किया।

एडीसीपी श्रीमती गीतांजलि प्रसाद के स्वागत संबोधन के पश्चात प्रधान मजिस्ट्रेट श्री रवि रंजन कुमार के द्वारा जेजे एक्ट पर विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुए आवश्यक प्रपत्रों को भरने ,बच्चों के साथ किये जानेवाले व्यवहार आदि पर विस्तार से प्रकाश डाला गया। बाल संरक्षण के मुद्दे बच्चों के लिए संचालित सरकारी योजनाओं पर डीपीओआईसी डीएस ने प्रकाश डाला। कार्यक्रम के दौरान बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष ने पॉक्सो, एवसीसीआई के बारे में विस्तार से जानकारी दी। पुलिस उपाधीक्षक मुख्यालय श्रीमती निशित प्रिय एव यूनिसेफ पटना से आये परामर्शी श्री अजय कुमार के द्वारा विशेष किशोर पुलिस इकाई के कार्य दायित्व एव संबंधित प्रावधानों के बारे में विस्तारपूर्वक प्रकाश डाला गया। कार्यक्रम का संचालन जिला समन्वयक सेव द चिल्ड्रेन/यूनिसेफ शिव शंकर पाठक के द्वारा किया गया। इस दौरान उन्होंने बाल विवाह उन्मुलन एवं बाल संरक्षण समिति के स्ट्रक्चर एव आपसी समन्वय के बारे में प्रकाश डाला।

कार्यक्रम में न्यायाधीश, जिला कल्याण पदाधिकारी पवनेश्वर महतो, बाल संरक्षण पदाधिकारी राकेश कुमार, सभी थानाध्यक्ष, सभी बाल कल्याण पुलिस पदाधिकारी, सेव द चिल्ड्रेन के प्रखंड समन्वयक धर्मेंद्र कुमार, मनोज कुमार निराला , डीसीपीयू के बिपिन कुमार, अमृता कुमारी, निकी कुमारी के साथ सभी कर्मचारियों ने सक्रिय भागीदारी निभाई।

By anandkumar

आनंद ने कंप्यूटर साइंस में डिग्री हासिल की है और मास्टर स्तर पर मार्केटिंग और मीडिया मैनेजमेंट की पढ़ाई की है। उन्होंने बाजार और सामाजिक अनुसंधान में एक दशक से अधिक समय तक काम किया। दोनों काम के दायित्वों के कारण और व्यक्तिगत हित के रूप में उन्होंने पूरे भारत में यात्रा की। वर्तमान में, वह भारत के 500+ जिलों में अपना टैली रखता है। पिछले कुछ वर्षों से, वह पटना, बिहार में स्थित है, और इन दिनों संस्कृत में स्नातक की पढ़ाई पूरी कर रहें है। एक सामग्री लेखक के रूप में, उनके पास OpIndia, IChowk, और कई अन्य वेबसाइटों और ब्लॉगों पर कई लेख हैं। भगवद् गीता पर उनकी पहली पुस्तक "गीतायन" अमेज़न पर लॉन्च होने के पांच दिनों के भीतर स्टॉक से बाहर हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

hi Hindi
X